Email ID : {{site_email}}
Contact Number : {{site_phone}}

जानिये सिद्ध कामाख्या सिन्दूर के अद्भुत फायदे नवरात्री पर प्रयोग करने से

Siddh Kamakhya Sindoor for Navratri

सिद्ध कामाख्या सिन्दूर सिर्फ नवरात्री में पूजा के लिए

 

नवरात्री हिन्दू धर्म का बहुत ही पावन पर्व है, और इस पर्व में हर कोई व्रत और पूजा करके अपनी हर मनोकामनाओं को पूरा करना चाहता है ।

 

अगर आप अपनी नवरात्री पूजा में माँ कामाख्या का सिद्ध सिन्दूर प्रयोग करते है तो आपको माता कामाख्या का आशीर्वाद प्राप्त होता है ।

 

ये सिन्दूर सिर्फ नवरात्री में प्रयोग करने के लिए होता है क्योकि इस सिन्दूर को नौ दुर्गा और 51 शक्ति पीठों के मंत्रो द्वारा सिद्ध किया गया है।

 

Puja Services for Diwali, Call: +91-9069100911

 

कामाख्या सिन्दूर का शास्त्रों में महत्त्व

 

शास्त्रों में सिन्दूर का प्रयोग किसी भी नारी के लिए उसके सुहाग का प्रतीक माना जाता है और इस से पति की आयु लम्बी होती है, उसे किसी भी प्रकार की अनहोनी से भी रक्षा करता है ये सिन्दूर, शास्त्रों में सिन्दूर को मंगल का भी प्रतीक माना गया है, और इस सिन्दूर को तिलक करने या लगाने से मांगलिक दोष का भी निवारण होता है ।

 

सिन्दूर के लाल रंग को लक्ष्मी का भी प्रतीक माना जाता है क्योकि लक्ष्मी जी को लाल रंग बहुत प्रिय है, और सिन्दूर तो बहुत सारे होते है लेकिन सब सिन्दूर में सबसे ज्यादा उपयोगी और पवित्र कामाख्या सिन्दूर माना जाता है क्योकि ये माता कामाख्या का प्रसाद है जो की सबसे शक्तिशाली शक्ति पीठ है ।

 

सिद्ध कामाख्या सिन्दूर का प्रयोग नवरात्री में पूजा करने से बहुत सारे फायदे हैं, जैसे की:

 

  • शादी या रिलेशनशिप की समस्या में,
  • धन या व्यापार की समस्या में,
  • निःसंतान की समस्या में,
  • भूत प्रेत या ऊपरी बाधा में,
  • अच्छे वर या वधु की प्राप्ति के लिए,
  • घर में हो रहे कलह (झगड़े) के लिए,
  • शत्रु या कोर्ट-क़ानूनी मामलो के समाधान के लिए इत्यादि ।
सिद्ध कामाख्या सिन्दूर का प्रयोग नवरात्री में कैसे करें?

 

सिद्ध कामाख्या सिन्दूर को आप हमसे प्राप्त कर अपने नवरात्री के नौ दिन की पूजा में प्रयोग कर सकते हैं, कैसे, ये हम यहाँ बता रहे हैं

 

  • आप इस सिन्दूर को निकाल कर अपने पूजा मंदिर में रख दे फिर जब भी आप सुबह को पूजा करें तो इसका तिलक कर लें,
  • तिलक करने के लिए इसका पेस्ट बनाना पड़ेगा और पेस्ट बनाने के लिए आप इसको पीस कर गंगा जल और कुमकुम पाउडर के साथ मिलाकर पेस्ट बनायें।
  • तिलक करते समय कामाख्या मंत्र या फिर दुर्गा मंत्र का जाप एक माला करें ।
  • ये प्रक्रिया नित्य नवरात्री के नौ दिन तक करें आपको सभी देवियो का आशीर्वाद प्राप्र्त होगा और आप के सारे कार्य सफल होंगे तथा परेशानियाँ दूर होंगी ।
  • इसके अलावा भी अन्य कई प्रयोग हैं कामाख्या सिन्दूर के जो की हम आपको आपकी समस्या के अनुसार और उपयुक्त मंत्र के साथ बताएँगे।
देवी कामाख्या और दुर्गा मंत्र सिन्दूर प्रयोग करते समय जाप के लिए:

 

1) “कामाख्ये काम संपने कामेश्वरी हरि प्रिये, | “कमाना देहि में नित्य कामेश्वरी नमोस्तुते ||”

 

2) "सर्वमङ्गलमाङ्गल्ये शिवे सर्वार्थसाधिके । शरण्ये त्र्यम्बके गौरि नारायणि नमोऽस्तु ते ॥"

 

तो इस नवरात्री पर अगर आपकी कोई मनोकामना हैं तो सिद्ध कामाख्या सिन्दूर का प्रयोग अवश्य करें, क्योकि ये सिन्दूर माता कामाख्या का प्रसिद्द प्रसाद है जो की कामाख्या मंदिर असम गुवाहाटी से प्राप्त होता है पत्थर के रूप में ।

 

अगर आप किसी भी प्रकार की समस्या से गुजर रहे हो तो अपने नाम और जन्मतिथि के साथ हमसे संपर्क करें, हम आपको उचित सलाह और समाधान बताएँगे ।

 

कामाख्या सिद्ध सिन्दूर से सम्बंधित किसी भी अन्य जानकारी के लिए हमसे कभी भी संपर्क करें इस नंबर पर +91-9069100911 या फिर हमें ईमेल करे contact@kamiyasindoor.com . आप हमसे नवरात्री पूजा, पूजा सामग्री के लिए भी संपर्क कर सकते हैं।

 

हमसे संपर्क करने के लिए अपनी डिटेल नीचे दिए गए फॉर्म से भेजें

 

नवरात्री पूजा का मुहूर्त पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें

 

नवरात्री पूजा किट के लिए यहाँ क्लिक करें

 

नवरात्री में किसी भी पूजा के लिए यहाँ क्लिक करें

 

नवरात्री में कामाख्या किट लेने के लिए यहाँ क्लिक करें

 

नवरात्री में कामाख्या सिन्दूर लेने के लिए यहाँ क्लिक करें

 

नवरात्री में कामाख्या पूजा के लिए यहाँ क्लिक करें

 

Request for Call Back !!

Complete Privacy and Satisfaction

I hereby agree to T&C, Disclaimer of
www.kamiyasindoor.com