Email ID : {{site_email}}
Contact Number : {{site_phone}}
Kamiya Sindoor Facebook Page Follow Kamiya Sindoor at Twitter

कामाख्या सिन्दूर क्या है, इसके प्रयोग और फायदे हिंदी में

 Kamakhya Sindoor हम आपको कामाख्या सिन्दूर के बारे में पूरी जानकारी यहाँ दे रहे है वो भी हिंदी में |

 

कामाख्या सिन्दूर क्या है और कहा से प्राप्त होता है?

 

कामाख्या सिन्दूर असली में छोटे छोटे पत्थरोँ के रूप में होता है, जो की माँ कामाख्या मंदिर से प्राप्त होता है प्रसाद के रूप में, प्रसाद के रूप में वहां से और भी माँ कामाख्या की चीज़ें प्राप्त होती है जिनमे कामाख्या वस्त्र, कामाख्या कड़ा और कामाख्या यन्त्र भी मिलता है पर सभी लोगो को नहीं.

 

सारे भक्तो को सिर्फ दो ही चीज़ें दी जाती है जब मंदिर का द्वार खुलता है और वो दो चीज़ें कामाख्या सिन्दूर और वस्त्र होती है | कामाख्या सिन्दूर को लोग कामिया सिन्दूर भी कहते है और कामाख्या वस्त्र को लोग अम्बुबाची वस्त्र भी कहते है |

 

और ये दोनों चीज़ें सिर्फ अम्बुबाची मेला के दौरान ही वितरित की जाती है, तीन दिन के लिए मंदिर का द्वार बंद कर दिया जाता है और फिर जब मंदिर का द्वार खुलता है तो प्रसाद के रूप में सिन्दूर और वस्त्र वितरित किया जाता है |

 

अम्बुबाची मेला हर साल जून के महीने में मनाया जाता है, क्योकि जहा पर मंदिर स्थित है उस ग्राम का नाम अम्बुबाची है इसलिए इस मेले का नाम अम्बुबाची मेला है और ये मंदिर नीलांचल पर्वत पर स्थित है | हर साल लाखो करोडो भक्त माँ कामाख्या का आशीर्वाद लेने यहाँ आते है और अपनी मनोकामनाओ को पूर्ण करते है |

 

ये तो रही जानकारी कामाख्या सिन्दूर के बारे में कहा से और कैसे मिलता है |

 

To read about Kamakhya Sindoor in English Click Here !!

 

अब हम बताते है की ये सिन्दूर इतना महत्त्वपूर्ण क्यों है?

 

इस सिन्दूर की महत्तवता बताने के लिए हमें माँ कामाख्या का इतिहास बताना पड़ेगा क्योकि इसकी महत्तवता माँ कामाख्या की महत्तवता में छुपा हुआ है |

 

माँ कामाख्या की उत्पत्ति शिव जी की वजह से हुई, इसके पीछे की घटना ये है की सती राजा दक्ष की पुत्री थी और वो शिव जी से प्रेम करती थी पर राजा दक्ष ये नहीं चाहते थे, और सती ने शिव जी से शादी कर ली, राजा दक्ष ने एक यज्ञ किया और शिव जी आमंत्रण के बावजूद उस यज्ञ में नहीं आये जिससे क्रोधित होकर उन्होंने शिव जी का अपमान किया और अपशब्द कहे, सती को इस बात का बहुत बुरा लगा और उन्होंने आत्म दाह कर लिया |

 

तब शिव जी ने सती के मृत शरीर को उठा कर संहारक नृत्य किया जिससे की प्रलय की स्थिति उत्पन्न हो गई और इस प्रलय से बचने के लिए भगवान विष्णु ने अपने सुदर्शन चक्र से सती के शरीर को छिन्न भिन्न कर दिया जिससे की सती के अंग 51 अलग अलग जगहों पर गिरे, और जहा जहा इनके अंग गिरे वहां पर शक्ति पीठो का निर्माण हुआ |

 

जैसे की नैना देवी में देवी सती के नेत्र (आंखे) गिरी थी, ज्वाला देवी में जिह्वा (जीभ ) गिरी थी, ऐसे ही कामाख्या मंदिर जहा स्थित है वहां माता सती की योनि गिरी थी, जिसके कारण माँ कामाख्या मंदिर सबसे शक्तिशाली पीठों में से एक माना जाता है | इस मंदिर पर बलि प्रथा है, हर साल अघोरी तांत्रिक इस मंदिर पर अपनी सिद्धियों को प्राप्त करने के लिए पूजा अर्चना करते है |

 

इसलिए इस मंदिर पर पूजा का महत्त्व बहुत ही ज्यादा है, माना ये जाता है की जो भी इस मंदिर पर अपनी मनोकामनाये ले के आता है वो जरूर पूर्ण होती है | तो यहाँ से निकलता है कामाख्या सिन्दूर और वस्त्र का महत्त्व | मतलब ये की आप अगर इन चीज़ों का इस्तेमाल करते है तो माँ कामाख्या और भगवान शिव दोनों का आशीर्वाद आपको प्राप्त होता है | इसलिए इन दोनों चीज़ों का महत्त्व बहुत ही ज्यादा है | अब हम आपको बताते है की किन किन समस्याओ का समाधान आप कामाख्या सिन्दूर और कामाख्या वस्त्र से कर सकते है ?

 

निम्नलिखित समस्याओ का समाधान आप कामाख्या सिन्दूर और कामाख्या वस्त्र के प्रयोग से कर सकते है :

 

  • अगर आप किसी प्रेम या रिलेशनशिप समस्या को लेकर परेशान है
  • अगर आपके पास पैसे और धन की समस्या है
  • अगर आपके व्यापार में सफलता नहीं मिल रही है और घाटा हो रहा है
  • अगर आपके ऊपर क़र्ज़ चढ़ गया है और कोई रास्ता नहीं मिल रहा है
  • अगर आपका धन टिक नहीं रहा है
  • अगर आप मन चाही सफलता नहीं पा रहे हो चाहे व्यापार में , नौकरी में ये प्रेम में
  • अगर आप अच्छी नौकरी नहीं पा रहे हो
  • अगर आप अपने जमीन या घरेलु झगड़ो से परेशान हो
  • कोर्ट केस या मुकदमे में विजय नहीं मिल रही हो
  • अगर आप तलाक लेना-देना या हटाना चाह रहे हो
  • अगर आप या आपके परिवार पर काले जादू या बुरी नज़र का प्रभाव हो
  • अगर किसी को संतान की प्राप्ति नहीं हो रही हो
  • अगर किसी के वैवाहिक जीवन में कोई समस्या आ रही हो
  • अगर आप विदेश नहीं जा पा रहे हो अपने बिज़नस या नौकरी के लिए
  • अगर आप या आपके परिवार पर भूत प्रेत या बाहरी शक्तियों का प्रभाव हो
  • अगर आपका प्यार आपको छोड़कर चला गया हो
  • अगर आप सेलिब्रिटी या पॉलिटिशियन बनना चाहते हो

 

अगर आपको इनमे से कोई समस्या है तो आप माँ कामाख्या सिन्दूर और कामाख्या वस्त्र का प्रयोग कर सकते है | हमारी वेबसाइट पर बहुत सारे वैदिक पंडित है जो की इस सिन्दूर को सिद्ध करके लोगो को देते है उनकी समस्या के निवारण के लिए, अगर आपको ये सिन्दूर या वस्त्र चाहिए तो आप यहाँ से खरीद सकते है |

 

इसके अलावा भी कुछ खास मौको पर आप कामाख्या सिन्दूर और वस्त्र को लेकर उसे अपनी पूजा में इस्तेमाल कर सकते है इससे आपको मन चाही सफलता मिलेगी ये खास मौके है :

 

  • दिवाली के पवित्र समय पर अगर आप अपनी पूजा में माँ कामाख्या सिन्दूर और वस्त्र प्रयोग करते है तो आपको अपार धन और समृद्धि प्राप्त होती है, क्योकि दिवाली के समय पर बहुत सारी तांत्रिक क्रियाएं की जाती है तो आप सिन्दूर का प्रयोग उसके लिए भी कर सकते है |
  •  

  • होली के पवित्र मुहूर्त पर भी तांत्रिक क्रियाओं का विशेष महत्त्व है, इन तांत्रिक क्रियाओं में आप कामाख्या सिन्दूर और वस्त्र का प्रयोग करके मनचाही सफलता प्राप्त कर सकते है |
  •  

  • नवरात्री जिसमे देवी दुर्गा के नौ रूपो की पूजा की जाती है एक ऐसा समय होता है जिसमे आप कुछ भी मांग लो आपको देवी के आशीर्वाद से मिल जाता है , आप अपनी पूजा में अगर कामाख्या सिन्दूर का प्रयोग करते है तो आपको सिद्ध रूप से मनचाही सफलता मिलती है |
  •  

  • छठ पूजा में भी आप कामाख्या सिन्दूर और कामाख्या वस्त्र का प्रयोग कर सकते है इस पर्व में सूर्य की पूजा आप इन दोनों चीज़ों से कर सकते हो अपनी मनोकामना की पूर्ति के लिए |
  •  

  • अगर आप चाहते है की आपसे हर व्यक्ति प्रभावित हो, आपके द्वारा किया गए कार्य सफल हो और आपको अपने पोजीशन में पद्दोनत्ति मिले तो आप कामाख्या सिन्दूर का तिलक प्रतिदिन अपने मस्तक पर लगाए आपके हर कार्य सफल होंगे |
 Kamakhya Sindoor

 

कैसे पता करे की कामाख्या सिन्दूर असली है या नकली ?

 

हम आपको इस सिन्दूर की सबसे महत्त्वपूर्ण पहचान बताते है ये सिन्दूर छोटे छोटे पत्थरोँ के रूप में होता है जैसे की छोटे ईंट के टुकड़े लेकिन इन टुकड़ो में छोटे छोटे शीशे जैसे चमकने वाले टुकड़े होते है जो की चमकते रहते है, यही इस सिन्दूर की असली पहचान है अगर आपसे कोई ये कहे की सिन्दूर पाउडर के रूप में मिलता है तो आप समझ जाइये की वो नकली है | क्योकि ये मंदिर से ही पत्थर के रूप में मिलता है तो पाउडर कैसे हो जायेगा | हा अगर आपको प्रयोग करने के लिए पाउडर में इसे बनाना है तो आप इसको पीस कर पाउडर में बना सकते है |

 

माँ कामाख्या देवी की और चीज़ें जो की हम देते है :

 

कामाख्या सिन्दूर और कामाख्या वस्त्र के अलावा माँ कामाख्या देवी के आशीर्वाद के लिए आप इन चीज़ों का और प्रयोग कर सकते है :

 

कामाख्या कड़ा : इस कड़े पर माँ कामाख्या का मंत्र लिखा हुआ है जो की आपको हर कार्य में मदद करता है | इसको आप सामान्य कड़े की तरह से हाथो में पहयं सकते है |

 

कामाख्या यन्त्र : ये माँ कामाख्या का यन्त्र है जिसमे माँ कामाख्या के चित्र, यन्त्र और मंत्र लिखा हुआ है, इस यन्त्र को आप अपने मंदिर में स्थापित कर सकते है और पूजा कर सकते है |

 

कामाख्या पूजा किट : ये संपूर्ण कामाख्या किट है जिसमे की आपको सारी चीज़े मिल जाएँगी जैसे की कामाख्या सिन्दूर, कामाख्या वस्त्र, कामाख्या कड़ा, कामाख्या यन्त्र और कोई 3 दूसरे पूजा के सामान |

 

कामाख्या पूजा और इसका महत्त्व

 

To read about Kamakhya Sindoor in English Click Here !!

 

हर साल जून महीने में अम्बुबाची मेले के दौरान माँ कामाख्या की पूजा की जाती है, जिसमे लाखो भक्त प्रतिदिन आते है, अगर आपको माँ कामाख्या की पूजा करानी है तो हमारे वैदिक पंडित जी पूजा को करते है और प्रसाद हम आपके घर पर भिजवाते है |

 

कामाख्या पूजा बहुत ही उपयोगी पूजा है जो की आपको हर कार्य में सफलता प्राप्त करवाती है, इसलिए अगर आप किसी समस्या को लेकर परेशान है तो आप कामाख्या पूजा भी हमसे करवा सकते है | हम आपसे आपकी जन्म की जानकारी और गोत्र लेते है फिर आपके नाम पर हम पूजा करते है |

 

कामाख्या सिन्दूर के बारे में भ्रांतिया (मिथकें):

 

कामाख्या सिन्दूर के बारे में बहुत सारी भ्रांतिया फैली हुई है जो की पूरी तरह से गलत है, इनमे से कुछ भ्रांतिया नीचे दी गई है, जो की हमें उन लोगो से पता चली है जो की हमसे सिन्दूर के बारे में जानना चाहते थे :

 

  • लगभग 70% लोग ये कहते है की इस सिन्दूर से शीशा टूट जाता है, जो की बिलकुल गलत है, कमिया सिन्दूर से शीशा नहीं टूटता है, अगर आप मंदिर के किसी भी पुजारी से ये बात की सत्यता करना चाहते है तो आप कर सकते है, और अगर ऐसा कुछ होता तो विश्व के रिकॉर्ड में ये दर्ज होता जो की नहीं है और हमारे वैज्ञानिक गण इस बात का पता लगा रहे होते की इसके पीछे क्या कारण है जो की नहीं कर रहे है |
  • लोगो का कहना ये भी है की अगर इस सिन्दूर को हनुमान जी की मूर्ति पर लगा दो तो उनका चोला उतर जाता है, जो पूर्णतया गलत है कामियासिन्दूर.कॉम की टीम ने इसको हनुमान जी की मूर्ति पर लगा के देखा है ऐसा कुछ भी नहीं होता |
  • लोगो का ये भी कहना है की जब कोई व्यक्ति अपंबे मस्तक पर ये सिन्दूर तिलक के रूप में लगाता है तो शीशे में देखने पर उसे ये तिलक नहीं दिखता है, ये भी एक गलत धारणा लोगो में फैली हुई है जो की पूरी तरह से गलत है |
  • कुछ लोग तो कहते है की अगर दो पत्थरों पर कामाख्या सिन्दूर लगाकर आमने सामने रख दिया जाये तो वो पत्थर आपस में लड़ने लगते है, इसको भी हमारी टीम ने जांचा है और गलत पाया है |
  • और धारणा ये भी है की अगर हथेली के किसी तरफ लगाओ तो दूसरी तरफ हथेली अपने आप लाल हो जाती है, ये भी गलत है बाकी सारी बातो की तरह |

 

 Kamakhya Sindoor यहाँ पर भ्रांतियों को लिखने का हमारा मतलब सिर्फ इतना था की आप इन सब चीज़ों पर विश्वास न करे अगर कोई दूसरा आपको ये कह के सिन्दूर बेचता है तो आप समझ ले की वो आपको नकली कमिया सिन्दूर दे रहा है | मूल्य सम्बंधित बातो से भी आप ये पता कर सकते है की आपको नकली सिन्दूर मिल रहा है या असली अगर मूल्य कुछ 2100 रूपए से कम का कोई दे रहा है तो वो नकली है क्योकि इतना महत्त्वपूर्ण पूजा का सामान कोई कैसे इतना सस्ता दे सकता है |

 

बहुत सारी वेबसाइट्स पर आज कामाख्या सिन्दूर बिक रहा है, हर वेबसाइट्स ने हमारी ली गई कामाख्या सिन्दूर की फोटो लगा रखी है, जो की कही कही पर पीली और सफ़ेद डिब्बी में रखी गई है, और कही कही पर केवल एक बड़ा टुकड़ा सिन्दूर की फोटो है और कही कही पर ढेर सारे छोटे छोटे टुकड़े की फोटो है |

 

इस पेज पर हम अपने द्वारा खिंची गई असली कामाख्या सिन्दूर की फोटो लगा रहे है, आप इनको देखिये और असली और नकली में पहचान कर ही कामाख्या सिन्दूर ख़रीदे |

 

 

 

कामाख्या सिन्दूर के प्रकार :

 

कामाख्या सिन्दूर 3 प्रकार से आप प्राप्त कर सकते है :

 

  1. पहला बिना सिद्ध किया हुआ कामाख्या सिन्दूर (इसमें हम सिन्दूर की पूजा नहीं करके देते जो भी लेने वाला होता है वो या तो खुद पूजा कर सकता है या किसी और पंडित से पूजा करा सकता है )
  2.  

  3. दूसरा सिद्ध किया हुआ कामाख्या सिन्दूर (इसमें हम सिन्दूर को संध्या पूजन में रख कर कामाख्या मंत्र से पूजा करते है जिससे की ये सिद्ध हो जाता है)
  4.  

  5. तीसरा किसी के नाम पर सिद्ध किया हुआ (इसमें किसी विशेष परिणाम के लिए हम उस व्यक्ति के नाम पर पूजा करते है जो की इसे लेना चाहता है )

 

इन तीनो प्रकार के सिन्दूर का प्रभाव और मूल्य अलग अलग होता है, क्योकि हमें ये बहुत ही काम मात्रा में मंदिर से मिलता है तो हम इसकी बहुत की काम मात्रा लगभग 5 से 10 ग्राम ही लोगो को दे पाते है |

 

कामाख्या सिन्दूर का प्रयोग कैसे करे:

 

कामाख्या सिन्दूर के प्रयोग करने के बहुत सारे तरीके हैं जो की हमारे वेबसाइट के किसी अन्य पेज पर लिखे गए है और हम लोगो की समस्या के अनुसार प्रयोग विधि लिख कर भी देते है | अगर आपके पास ये सिन्दूर है और आपको प्रयोग विधि नहीं पता है तो आप हमसे संपर्क करके पूजा विधि जान सकते है | इसके बारे में आपको चिंता करने की कोई जरुरत नहीं है हम हर सामान की प्रयोग विधि लिखकर फ्री में देते है |

 

कामाख्या मंत्र :

 

कामाख्या मंत्र के जाप से भी आप अपनी समस्याए दूर कर सकते है घर परिवार में खुशहाली ला सकते है, नीचे कुछ कामाख्या देवी के मंत्र संस्कृत में दिए गए है, इन मंत्रो को आप ताबीज़ में पिरोकर धारण भी कर सकते है, ये भी बहुत ही लाभकारी होता है :

 

1. “क्लीं क्लीं कामाख्या क्लीं क्लीं नमः |”

 

2. “कामाख्याये वरदे देवी नीलपावर्ता वासिनी | त्व देवी जगत माता योनिमुद्रे नमोस्तुते ||”

 

3. “कामाख्ये काम संपने कामेश्वरी हरि प्रिये, | “कमाना देहि में नित्य कामेश्वरी नमोस्तुते ||”

 

Contact at official number of Kamiyasindoor.com team at 9999505545 for any information related to Kamakhya Sindor, Kamakhya Kada , Kamakhya Vastra and kamakhya Kit, our team always ready to help you.

 

To read about Kamakhya Sindoor in English Click Here !!

 

Religious Kart

 

Religious Kart

 

 

International Shipping Available.     |     Cash On Delivery Available on Some Products in India Only. T&C     |     We Also Book & Perform Puja Path Services.      |      We only provides original & Pure Religious Products    |      All Astrology Services Available here.     |      Make a Donation to Support KamiyaSindoor.com.