Email ID : {{site_email}}
Contact Number : {{site_phone}}

कामाख्या पूजा हिंदी में (Kamakhya Puja in Hindi)

Kamakhya Puja in Hindi कामाख्या पूजा तांत्रिक सिध्दि प्राप्त करने के लिये की जाती है। कामाख्या मंदिर में यह पूजा करने पर अत्यंत लाभ मिलता है।

 

कामाख्या मंदिर 51 शक्ति पीठ में से एक है जहां मां शक्ति के योनि का हिस्सा गिरा था। जब इस योगी से रक्त निकलता है तब यह मंदिर तीन दिन के लिये बंद रहता है।

 

चौथे दिन इस मंदिर में बहूत बड़ी पूजा की जाती है। व रक्त से भिगा वस्त्र भक्तों को प्रसाद के रुप में दिया जाता है।

 

इस वस्त्र को घर में रखने से अनेक प्रकार के कष्ट दूर होते है। व माता सती की कृपा हमेशा आप पर बनी रहती है।

 

 

आइये जानते है कामाख्या पूजा का शुभ मुहुर्त

 

कामाख्या मेला – 22 जून 2017 से लेकर 26 जून 2017 तक

 

कामाख्या पूजा – 26 जून 2017

 

1. शुभ मुहुर्त – सुबह 06 बजकर 34 मिनट से लेकर 11 बजकर 46 मिनट तक
2. कुल समय – 5 घंटे 12 मिनट

 

पूजन सामाग्री –

 

  1. कामाख्या मंदिर की फोटो
  2. कामाख्या सिंदूर
  3. कामाख्या यंत्र
  4. कामाख्या वस्त्र
  5. कामाख्या कड़ा

 

अम्बुबाची मेले के दौरान कामाख्या मंदिर में पूजा कैसे करे या करवाये ?

 

कामाख्या पूजा के लाभ –

 

आइये जानते है कामाख्या पूजा करने के लाभों के बारे में विस्तार से -

 

  1. कामाख्या पूजा करने से धन संबंधित परेशानियां का अंत होता है।
  2. व्यापार में वृध्दि होती है व उस में आ रही परेशानियां धीरे धीरे समाप्त होने लगती है।
  3. अगर आप किसी से प्रेम करते है परन्तु उससे विवाह करने में परेशानी आ रही है तो आप को कामाख्या पूजा जरुर करनी चाहिये। यह पूजा प्रेम विवाह सम्पन्न करने में मदद करती है।
  4. अगर आप कानुनी परेशानियाँ में फँसे है तो यह पूजा कानुनी लड़ाई जीतने में मदद करती है।
  5. प्रेमिका या प्रेमी को वापस अपनी जिंदगी में लाने में मदद करता है।
  6. वशीकरण करने में मदद करती है।

 

किसी भी अन्य जानकारी के लिए हमसे संपर्क करे, हमारा संपर्क नंबर है 9069100911