Email ID : {{site_email}}
Contact Number : {{site_phone}}

Kamakhya Sindoor for the Navratri

Kamakhya Sindoor for the Navratri कामाख्या सिन्दूर का नवरात्री के दिन प्रयोग और फायदे

 

कामाख्या शक्ति पीठ हम्हारे ५१ शक्ति पीठो में सर्वोच्च शक्ति पीठ का स्थान प्राप्त है। कामख्या शक्ति पीठ को तंत्र सबसे बड़ी सिद्ध पीठ के रूप में भी जाना जाता है और मान्यताओ के अनुसार कोई भी सिद्ध पुरुष माँ की कृप्या के आशीर्वाद प्राप्त करे बिना सिद्धिया या शक्तिया प्राप्त नहीं करता। भगवन शिव से इस मंदिर को वरदान प्राप्त है की अम्बुबाची और नवरात्रो में जो भी मनुष्य विशेष रूप से महिलाये चैत्र नवरात्रो में माँ से आशीर्वाद के रूप में कामाख्या सिन्दूर को प्राप्त करती और प्रयोग करती है व माँ के सभी रूप का ध्यान करती है तो उनको माँ की विशेष अनुकंपा प्राप्त होती है और सभी मनवांछित फल प्राप्त होते है।

 

विशेष रूप से ये बात ध्यान देने योग्य है की जीवन में यदि रिश्तो से सम्बंधित और धन से सम्बंधित किसी भी प्रकार की समस्या आ रही हो तो उस समस्या के निवारण का इससे उत्तम स्थान पुरे ब्राह्मांड में नहीं है। क्योंकि शास्त्रो ,देवीपुराण और कल्कि पुराण के अनुसार कामाख्या पवन धाम कलियुग की जागृत शक्ति पीठ है। स्वमं काम के और प्रेम के देवता को अपने श्राप से मुक़्ति चाहिए थी तो एकमात्र कामाख्या धाम पर आकर उनको अपने श्राप से मुक्ति मिली थी और पुनः अपनी शक्तिया व् रूप प्राप्त हुआ था । देवो के देव महादेव का भी वास यंही पर माँ सती के साथ है गर्भगृह में।

 

To buy Kamakhya Sindoor for Navratri Click at above given button. If any question then feel free to ask our expert at 9911470655.

 

ऐसी मान्यता है की जब कुंडली के सभी ग्रहो का निवारण करने के बाद भी ग्रहो से शांति न मिले तो कामाख्या धाम में नवरात्रो के दिनों में दुर्गा सप्तसती का पाठ करने से सभी पारिवारिक और रिश्तो से संबंधित समस्याओ का निवारण हो जाता है।

 

Click Here To Book Navratri Puja and Homa

 

कल्कि पुराण के अनुसार यदि कामाख्या सिन्दूर का नित्य ४० दिन तक तिलक करने से सभी मन मुटाव दूर हो जाते है और यदि आपके पति या प्रेमी न सुनते हो और उनका ध्यान और आकर्षित होता हो तो वो भी आपकी तरफ ध्यान देना शुरू कर देते है। और फिर किसी की बाते में आना या मन मुटाव जैसी स्थिति ख़त्म हो जाती है। क्योंकि जब स्वमं महादेव को ये स्थान इतना प्रिये है की इतने बड़े योगी होने के बाद भी यंहा आकर वो मोह में वशीभूत हो गए, जहा कामदेव को आना पडा, जिस जगह पर १० महाविध्या एक साथ विराजमान हो और सबसे बड़ी बात शास्त्रो व् पुराणों के अनुसार ५१ शक्ति पीठ में जिसका स्थान पहले स्थान आता हो तो यंहा की व्याख्या तो अपरम्पार है, अतुलए है ,अद्भुत है।

 

कामाख्या धाम और कामाख्या सिन्दूर के बारे में एक और अद्भुत जून के महीने में जब 3 दिन मंदिर के कपाट बंद होते है तो उन दिनों में ब्रह्मपुत्र का पानी लाल हो जाता है और माँ की मूर्ति से रक्त का प्रवाह होता है ऐसा हर साल २२ जून से २४ जून तक होता है , जिसको सूखने के बाद कामाख्या सिन्दूर के रूप में वितरीत किया जाता है। और यह अति दुर्लभ व् बहुत की शक्तिशाली होता है।

 

Buy Navratri Puja Kit in Rs. 1100, 2100, 4100 and 7100

 

वैज्ञानिक भी आज तक इसका पता नहीं लगा पाए की कौन सी ऐसी चमत्कारी शक्ति है जिसकी वजह से ऐसा होता है। और जिसका वर्णन हम्हारे शास्त्रो में हजारो वर्ष पूर्व ही लिखा हुआ है।

 

जिनकी मनोकामना पूरी हो जाती है या कोई अपनी मनोकामना मांगना चाहता है तो वो नवरात्रो में कन्या भोज करवाते है। जो लोग आ नहीं सकते वो दक्षिणा देकर ब्राह्ण के द्धारा ऐसा करवाते है जिसके बदले में उनको प्रसाद भेज है उनके पते पर।

 

देश भर से लाखो श्रद्धालु नवरात्रो में माँ का दर्शन करने आते है और जो किसी कारण वश नहीं आ सकते वो मंदिर का प्रसाद के रूप में कामाख्या सिन्दूर और माँ का वस्त्र आर्डर करवाते है। सिन्दूर आती दुर्लभ होने के कारण सभो नहीं मिलता जिसकी वजह से इसकी कीमत भी बहुत अधिक होती है।

 

यदि आपको कोई भी और जानकारी या अधिक जानकारी चाहिए तो आप इस नंबर पर संपर्क कर सकते है या हमको में कर सकते है। आपकी कुंडली में यदि कोई दोष है या आप किसी समस्या से घिरे हुए है और आप नवरात्रो में निशुल्क अपनी कुंडली दिखवाकर समस्या के निवारण हेतु संपर्क कर सकते है। हमारा मकसद शास्त्रो में जुडी हुई ऐसी जानकारी आपके सामने है जिनका विवरण समाज कल्याण हेतु हमारे ऋषि मुनि योगियो ने पहले से हे दे रखा है लेकिन विदेशी आक्रांताओ और ८०० वर्ष की गुलामी के कारण ये विद्या लुप्त होती जा रही है। और प्राच्य प्रभाव, आधुनिकता वे commercialisation की वजह से संकट की स्थिति में है।

 

अगर आपकी ये जानकारी अच्छी और महत्वपुर्ण लगी हो तो कृपया इसको जरूरत वाले व्यक्ति तक अवश्य पहुचाये.

 

इस सिन्दूर को प्राप्त करने के लिए हमसे संपर्क करे :+91-9911470655.

 

यदि आपको नवरात्री में देवी के नौ स्वरूपो की पूजा करवानी हो तो हमसे संपर्क करे और इसके बारे में पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें :

 

Vasant Navratri Puja

 

Navratri Festival is a very big Festival in Indian Hindu Religion because in this festival the worship of 9 different form of the Goddess Durga performed. And all the 9 forms blessed human beings in different-different terms.

 

Uses of the Kamakhya Sindoor at Navaratri

 

Every people worship the Goddess Durga these forms in their own manner for the solution of their problems, betterment of the life, for success, for the wealth and prosperity. As a most powerful rare religious product Kamiya sindoor will enhance your Puja effectiveness for the Goodess Durga. So you can use the energized form of the Kamakhya SIndoor in Navratri for the worship.

 

To get prosperity , happiness, strength, wealth, family fortune you can conduct whole Navaratri Puja by Kamakhya Sindoor which is obtained from the great Maa Kamakhya Mandir as rock form which is very powerful to fulfill all your desires and wishes.

 

You can use Kamakhya Sindoor in your daily Puja; you can apply as a Tilak at your forehead. It helps to complete your all wishes which one for the positive purpose. In all vashikaran and Black magic activities at the Navaratri KamiyaSindoor give you the desired result.

 

There are four types of Navarati in a year, these are:

 

  1. Magh Navaratri is also known as Gupt Navratri.(January-February)
  2. Vasant Navaratri also known as Chaitra Navartri.(March-April)
  3. Ashad Navarati also known as Gupt Navaratri. (June-July)
  4. Shardiya Navarati also known as Maha Navratri. (September-October)

 

If you want to more information about the Use of Kamakhya SIndoor at Navratri contact us at +91-9911470655. Kamiya Sindoor will tell you the Complete uses, benefits and Vidhi to you free of cost.

 

Book Navratri Puja

Navratri is most important festival of Hindus. It celebrated nine days in nine forms of Maa Shakti. Navratri word is composed of Sanskrit words. Its mean nine nights. Read more...

Book and Perform Durga Saptshati or Chandi Puja (Special Puja of Navratri)

Saptshati means 700, the scripture has 13 Chapter and all 700 verses are categorized in each chapter. Each chapter of this scripture when recited without imperfection gives different benefits. Read more...

Book and Perform Baglamukhi Devi Special Puja For Navratri

Along with 9 aspect of Devi Durga or Kaali the worship of Baglamukhi Devi is well deserved for getting the power and strength very quickly. Baglamukhi Devi means the stork headed goddess. Stork is the considered the essence of deceit. Read more...

Book and Perform Kamakhya Devi Special Puja for Navratri

This Puja is celebrated for nine days and important rituals are performed behind doors. Sacrifices that are made: Gourd, pumpkins, fish, goats, pigeons and buffaloes. Even a human size figure made of flour gets sacrificed to fulfill the old age tradition of human sacrificing. Read more...

Book and Perform Das Maha Vidya Puja for Navratri

Dus Mahavidya Puja is worshiping all ten forms of Shakti. The puja provides fulfillment of all materialistic desires and spiritual liberation. The worship of Dasmahavidya provides bhoga (fulfillment of materialistic desires) and moksha (spiritual liberation). Read more...

 

International Shipping Available.     |     Cash On Delivery Available on Some Products in India Only. T&C     |     We Also Book & Perform Puja Path Services.      |      We only provides original & Pure Religious Products    |      All Astrology Services Available here.     |      Make a Donation to Support KamiyaSindoor.com.